3 योग करे कब्ज और गैस के लिए | Kabj/ constipation aur gas dur karne ke upay in hindi.

3 योग करे कब्ज और गैस के लिए  Kabj aur gas dur karne ke upay in hindi.

कब्ज और गैस को दूर करने के लिए Yoga for constipation and gas in hindi में ३ Yoga करे और एक सप्ताह में ही बिना किसी दवा Kabj aur gas का समाधान प्राप्त करें।

Yoga for constipation and gas in hindi- Kabj aur gas dur karne ke upay in hindi – 3 Yoga नियमित करे और एक सप्ताह में ही बिना किसी दवा के प्रभावी समाधान प्राप्त करें।

Kabj/Constipation और Gas आज के समय में किसी एक व्यक्ति की समस्या नहीं है, वरन पूरे विश्व में कब्ज (Constipation) से परेशान व्यक्ति आपको मिलेंगे।

शरीर के अंदर होने वाली बहुत सारे समस्याओं में सबसे ज्यादा लोग Kabj/Constipation और Gas से परेशान रहते हैं।
यह कब्ज पाचन तंत्र से जुड़ी एक गंभीर समस्या है जो कि पाचन तंत्र के असंतुलन के कारण उत्पन्न होती है।

Kabj Aur Gas किसी भी आयु के लोगों को प्रभावित करती है।
कहा जाता है कि हमारे शरीर में होने वाली समस्याओं में ज्यादा समस्या हमारे पाचन तंत्र के सही कार्य न करने के वजह से उत्पन्न होता है।

मल को त्यागने में दिक्क्त या मल त्यागने की इच्छा का न होना कब्ज कहलाता है ।
हमारे आंतों में मल सूखने लगता है जिसके कारण इसमें मल का निष्कासन काम हो जाता है, इस स्थिति को कब्ज कहते है ।
इसमें मल त्यागने में कठिनाई होने लगता है ।

Also Read : लघु शंखप्रक्षालन को सही तरीके से करने पर हमारे शरीर के अंदर के सारे विषाक्त तत्व बाहर निकल जाते है।

 

यह शरीर को शुद्ध करने का आसान व सही तरीका है।

 

  • Kabj Aur Gas कोई बड़ी समस्या नहीं है, इसे दूर करने के लिए अपनी दिनचर्या में कुछ सुधार करें।
  • साथ ही खान-पान, शारीरिक श्रम के साथ-साथ कुछ घरेलू उपाय को करे।
  • इसके साथ यहाँ बताये गए Kabj/Constipation aur gas ke liye Yoga को नियमित अभ्यास करने पर कब्ज और गैस से हमेशा के लिए बचा जा सकता है।
  • इसलिए Yoga for constipation and gas in hindi को पढ़े और यहाँ बताये गए उपाय को करें। 

Also Read: इसे भी पढ़े। 

वज्रासन करने की विधि और लाभ। Benefits of Vajrasana in Hindi.

उत्तानपादासन करने की विधि और लाभ। Benefits of uttanpadasana in Hindi.

Yoga for weight los in Hindi

Shankh Prakshalan For Weight Loss & Benefits.

Benefits Of Yoga And Meditation In Hindi

Benefits Of Sarvangasana । How to do Sarvangasana.

Yoga For Early Discharge | Premature ejeculation | Increase timing…

5 Simple Excercise that will Transform Your Body.

दण्डासन करने की विधि और लाभ। Benefits of Plank in Hindi for weight loss.

सूर्य नमस्कार करने की विधि और लाभ। Benefits of Surya Namaskar in Hindi.

नौकासन करने की विधि और लाभ। Benefits of Naukasana in Hindi.

 

 

 

३ योग करे कब्ज और गैस के लिए और एक सप्ताह में ही प्रभावी समाधान प्राप्त करें बिना किसी दवा के।

 

Read More : शंख प्रक्षालन या शंख धौति।

 

Causes of Constipation- कब्ज होने के कारण:

  • सही समय पर भोजन का नहीं करना।
  • शरीरिक श्रम का न होना।
  • संतुलित आहार का सेवन न करना।
  • उचित मात्रा में पानी नहीं पीना।
  • भूख न लगने पर भी कुछ खाने की आदत का होना।
  • जंक फ़ूड व फ़ास्ट फ़ूड का सेवन करना।
  • खाने में फाइबर युक्त आहार (रेशेदार) का सेवन न करना।
  • तले हुए व मिर्च मसालेदार आहार का सेवन करना।
  • चीनी व मैदे से बने पदार्थों का सेवन करना।
  • ज्यादा दवाई का उपयोग करना।
  • रात में देर से खाना खाना और तुरंत सो जाना।
  • हार्मोंस का असंतुलन होना।
  • चिंता, तनाव आदि का होना।

Symptoms of Constipation-कब्ज होने के लक्षण:

  • बदहजमी ।
  • पेट में गैस का होना।
  • मल त्याग करते समय जोर लगाने की जरूरत होना।
  • मल का सूखा होना।
  • भूख का कम लगना।
  • एसिडिटी का होना।
  • मुँह में बदबुह का आना।

कब्ज से छुटकारा पाने के लिए सर्वप्रथम फाइबर युक्त (रेशेदार) आहार को लेना बेहद जरूरत है।

इसमें रेशेदार हरी-पत्तेदार सब्जियां, सलाद व फल का नियमित सेवन करना चाहिए।

  • कब्ज की समस्या कम पानी पीने के कारण भी हो सकता है।
  • गैस और कब्ज की समस्या कम पानी पीने के कारण भी हो सकता है। 
  • कब्ज में बड़ी आंत में मल सुख जाती है। जिससे मल त्यागते समय अत्यधिक जोर देने की आवश्यकता महसूस होती है।
  • Kabj/Constipation Aur Gas से परेशान व्यक्ति को खाना खाते समय अत्यधिक पानी नहीं चाहिए।

  • आयुर्वेद के सिद्धांतों के हिसाब से कहा गया है कि भोजनान्ते विषं वारी अर्थात भोजन के अंत में पानी पीना विष के समान होता है।
  • भोजन के 45 मिनट के बाद पानी पीना चाहिए। प्रयेक दिन नियमित रूप से 3-4 लीटर पानी पीना चाहिए।

Yoga for constipation/ Kabj aur Gas in hindi-3 योग करे कब्ज और गैस के लिए :

  • कब्ज और गैस की समस्या को दूर करने लिए सबसे पहले नियमित उषापान करे।
  • उषापान करने के बाद यह बताये गए Kabj aur gas dur karne ke upay करे।
  • यहाँ बताये गए ३ योग करे कब्ज और गैस के लिएताड़ासन, त्रियकताड़ासन और कटिचक्रासन का अभ्यास करे।

Tadasana- ताड़ासन करने की विधि :

  • ताड़ासन करने के लिए सबसे पहले दोनों पैरों को मिलाकर खड़े हो जाये।
  • आपके दोनों पैरों पर शरीर का समान वजन पड़ना चाहिए।
  • अपने पैर, कमर और गर्दन को सीधी रखें।
  • अब दोनो हथेलियों की उँगलियों को आपस में फसाकर सिर के ऊपर ले जाएँ।
  • अब श्वास लेते हुए अपने दोनो हाथों को ऊपर से ऊपर की ओर खींचे।
  • इस समय दोनों पैरों की एड़ियों को भी ऊपर उठाये।
  • कुछ समय इस अवस्था में रुके।
  • इसके बाद साँस छोड़ते हुए दोनों एड़ियों को जमीन पर टिका दे।
  • ताड़ासन को नियमित कम से कम 10-12 बार करें।

Triyak-Tadasana- त्रियक-ताड़ासन करने करने की विधि :

  • त्रियक-ताड़ासन करने के सबसे पहले ताड़ासन में खड़े हो जाए।
  • इसमें दोनों पैरों के एड़ियों को जमीन पर ही रखे।
  • श्वास लेते हुए दोनों हाथों के अँगुलियों को फसाकर ऊपर की ओर खींचे।
  • अब श्वास छोड़ते हुए बाये साइड झुके।
  • फिर श्वास लेते हुए बीच में आए।
  • पुनः अब श्वास छोड़ते हुए दाएं साइड झुके।
  • ऐसा ही त्रियक-ताड़ासन का अभ्यास कम से कम 10-12 बार करें।

Kati-Chkrasana- कटिचक्रासन करने करने की विधि :

  • कटिचक्रासन करने के लिए सबसे पहले ताड़ासन में आएं।
  • पैरों को एक-दूसरे अपने कन्धों के बराबर दुरी पर खड़े हो जाएं।
  • अब दोनों हाथों को कन्धों के समानांतर उठाकर रखें।
  • सांस भरे और सांस छोड़ते हुए अपने बांहों को धीरे-धीरे अपने शरीर की बायीं ओर ले जाएं।
  • अपने शरीर को बायीं ओर घुमाइए।
  • शरीर को कमर से मोड़िए और अपनी बांहों को यथासंभव पीछे की ओर ले जाने का प्रयास कीजिए।
  • बायीं ओर घुमाते समय दाहिने हाथ को बायीं कंधे पर रखें।
  • बायीं हाथ की कोहनी को मोड़करपीछे से अपने नाभि के पास लेन का प्रयास करे।
  • जब आप अच्छी तरह घूम जाते हैं तो इस स्थिति को बनाए रखें और फिर सांस लेते हुए आप बीच में आएं।
  • यह कटिचक्रासन का आधा चक्र हुआ।
  • यही प्रक्रिया दायीं ओर भी दोहराएं।
  • सांस भरे और सांस छोड़ते हुए अपने बांहों को धीरे-धीरे अपने शरीर की दायीं ओर ले जाएं।
  • अपने शरीर को दायीं ओर घुमाइए।
  • शरीर को कमर से मोड़िए और अपनी बांहों को यथासंभव पीछे की ओर ले जाने का प्रयास कीजिए।
  • दायीं ओर घुमाते समय बयां हाथ को बायीं कंधे पर रखें।
  • दायीं हाथ की कोहनी को मोड़करपीछे से अपने नाभि के पास लेन का प्रयास करे।
  • जब आप अच्छी तरह घूम जाते हैं तो इस स्थिति को बनाए रखें और फिर सांस लेते हुए आप बीच में आएं।
  • अब कटिचक्रासन का एक चक्र हुआ।
  • कटिचक्रासन का अभ्यास कम से कम 15-20 बार करें।

Yoga for constipation and gas/ Kabj Aur Gas in Hindi को पढ़े और यहाँ बताये गए उपाय को करें।

आपको यह आर्टिकल जरूर पसंद आया होगा, आप कृपया इसे LIKE या SHARE करे ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इस पोस्ट को पढ़ सकें।

आपके किसी मित्र या किसी रिश्तेदार को इसकी जरुरत हो और यदि किसी को इस post से मदद मिलती है तो आप को धन्यवाद जरुर देगा।

आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो कृपया कमेंट करे

साथ ही हमारे आने वाले सभी आर्टिकल को सीधा अपने मेल पर पाने के लिए हमे Subscribe करे।

योग हमारा शारीरिक और मानसिक दोनों तरह के विकास में सहायक होता है।

अतः आप प्रशिक्षित योग शिक्षक के सानिध्य में ही योग का सही अभ्यास करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *